28.1 C
New Delhi
Tuesday, October 19, 2021

कोरोना योद्धा

spot_img

About Author

रीता राय
रीता राय
लेखिका.
पढने में समय: < 1 मिनट

जिनके ह्रदय दया करुणा से भरे रहते हैं,

जिनके भाव विशुद्ध सेवा भाव से परिपूर्ण रहते हैं,

जो रोगी की सेवा में लीन कर्तव्यनिष्ठ सजग प्रहरी समान हों,

उन कर्म वीरों को मेरा शत शत नमन अभिनन्दन है।

*

दया ममता की प्रतिमूर्ति हैं वे, मानवता की प्रतिमूर्ति हैं वे,

घर परिवार संतान सुख सब कुछ समर्पित कर जाते हैं।

तन मन धन सबकुछ अपने कर्मों पर अर्पण कर जाते हैं।

अपने सारे सुख वैभव को रोगी की सेवा में तलाशते रहते हैं,

उनको जीवन देते देते कभी खुद उन पर बलिदान हो जाते हैं।

*

पर हाय क्या जन मानस उनके दर्द को समझते हैं?

नहीं, वे उनका स्वागत ईट पत्थरों से करते हैं।

तब भी कर्म वीर उनकी सेवा पूर्ण निष्ठा से ही करते हैं।

उनकी पूजा उनकी श्रद्धा उनके समर्पण को हम शत-शत नमन करते हैं।

उनका अभिनन्दन हम दीप जला कर करते हैं।।


***

नोट: प्रस्तुत लेख, लेखक के निजी विचार हैं, यह आवश्यक नहीं कि संभाषण टीम इससे सहमत हो।
Note: The opinions expressed in this article are the author’s own and do not reflect the view of the संभाषण Team.

About Author

रीता राय
रीता राय
लेखिका.

4 COMMENTS

guest
4 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
हरिओम
हरिओम
1 year ago

कोरोना योद्धाओं के विषय आपने बहुत अच्छा लिखा।
कोरोना योद्धाओं को हमारा नमन्🙏🏻
जय माँ भारती

R. Saxena
Nishu
1 year ago

अति सुंदर।

लता राय
Lata Rai
1 year ago

बहुत ही भावपूर्ण कविता मन को छूने वाले शब्द
🙏🙏

Satish Kumar Rai
Satish Kumar Rai
1 year ago

हृदय स्पर्शी बहुत सुंदर।

कुछ लोकप्रिय लेख

कुछ रोचक लेख

Subscribe to our Newsletter
error: